Latest GMP, subscription status. Should you apply?

[ad_1]

श्रीराम प्रॉपर्टीज का आईपीओ सब्सक्रिप्शन 8 दिसंबर 2021 को खुला और यह 10 दिसंबर 2021 को खत्म होने वाला है। इसलिए, निवेशकों के लिए पब्लिक इश्यू के लिए आवेदन करने की आज आखिरी तारीख है। दो दिन की बोली के बाद पब्लिक ऑफर को 1.63 गुना सब्सक्राइब किया जा चुका है। के अनुसार श्रीराम प्रॉपर्टीज आईपीओ सब्सक्रिप्शन स्टेटस, सार्वजनिक मुद्दा लायक रिटेल कैटेगरी में 600 करोड़ को 8.35 गुना, क्यूआईबी कैटेगरी में 0.12 गुना और एनआईआई कैटेगरी में 0.18 गुना सब्सक्राइब किया गया है। बोली के पहले दो दिनों में पूरी तरह से सब्सक्राइब होने के बाद, श्रीराम प्रॉपर्टीज के शेयर की कीमत भी ग्रे मार्केट में उछल गई है। बाजार के जानकारों के मुताबिक श्रीराम प्रॉपर्टीज के शेयर के प्रीमियम पर कारोबार कर रहे हैं 20 आज ग्रे मार्केट में।

श्रीराम प्रॉपर्टीज आईपीओ जीएमपी

बाजार के जानकारों के मुताबिक, श्रीराम प्रॉपर्टीज का आईपीओ जीएमपी आज है 20 है, जो गुरुवार को इसके ग्रे मार्केट प्रीमियम (जीएमपी) से दोगुना है। बाजार के जानकारों का कहना है कि इश्यू का पूरी तरह से सब्सक्राइब होना और शेयर बाजार में सकारात्मक धारणा श्रीराम प्रॉपर्टीज के आईपीओ ग्रे मार्केट प्रीमियम में इस तरह की उछाल के दो संभावित कारण हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि निफ्टी रियल्टी इंडेक्स ने 10 साल का ब्रेकआउट दिया है और इसलिए जिनके पास लंबी अवधि का समय है, वे ब्लॉक में आ सकते हैं और पब्लिक इश्यू के लिए आवेदन कर सकते हैं क्योंकि इसकी सदस्यता आज शाम समाप्त हो जाएगी।

इस जीएमपी का क्या मतलब है?

बाजार पर्यवेक्षकों का कहना है कि ग्रे मार्केट प्रीमियम का सीधा मतलब है कि सार्वजनिक निर्गम से ग्रे मार्केट में अपेक्षित लिस्टिंग लाभ। जैसा कि श्रीराम प्रॉपर्टीज का आईपीओ जीएमपी आज है 20, इसका मतलब है कि ग्रे मार्केट श्रीराम प्रॉपर्टीज की शेयर लिस्टिंग की उम्मीद कर रहा है 138 ( 118 + 20), जो कि इसके प्राइस बैंड से लगभग 17 प्रतिशत अधिक है 113 से 118 प्रति इक्विटी शेयर।

हालांकि, शेयर बाजार के जानकारों का कहना है कि जीएमपी एक अनौपचारिक डेटा है और इस पर ज्यादा भरोसा नहीं करना चाहिए। उन्होंने निवेशकों को कंपनी की बैलेंस शीट को देखने की सलाह दी क्योंकि यह कंपनी के वित्तीय स्वास्थ्य की ठोस तस्वीर देती है।

श्रीराम प्रॉपर्टीज IPO: अप्लाई करें या नहीं?

आक्रामक निवेशकों के लिए ‘सब्सक्राइब’ टैग देना; स्वास्तिका इन्वेस्टमार्ट के सीनियर एनालिस्ट आयुष अग्रवाल ने कहा, “कंपनी की वित्तीय स्थिति कमजोर रही है, जहां कंपनी के राजस्व में गिरावट आ रही है, जबकि कंपनी वित्त वर्ष 2020 से घाटे में चल रही है। वित्त वर्ष 19 में कंपनी का राजस्व था 723 करोड़, जो गिर गया वित्त वर्ष 2011 में 501 करोड़, जबकि इसने का लाभ कमाया FY19 में 48 करोड़ और का घाटा FY21 में 67 करोड़। मजबूत ब्रांड पहचान के बावजूद, कंपनी को COVID के दौरान नुकसान हुआ है, जब रियल एस्टेट और हाउसिंग फलफूल रहे थे। घाटे में चल रही कंपनी का रिटेल पार्ट 10 फीसदी है। आईपीओ 2.09 के पी/बीवी गुणक पर पहुंच रहा है, जबकि उद्योग का औसत 3.69 है, जो मामूली लिस्टिंग लाभ को आकर्षित कर सकता है। हालांकि, हम मानते हैं कि शोभा, ब्रिगेड, प्रेस्टीज इत्यादि जैसी कई प्रतिष्ठित सूचीबद्ध कंपनियां हैं, और केवल आक्रामक निवेशकों को ही आईपीओ के लिए आवेदन करना चाहिए।”

श्रीराम प्रॉपर्टीज का आईपीओ रिव्यू देना; UnlistedArena.com के संस्थापक अभय दोशी ने कहा, “रियल एस्टेट कंपनी मुख्य रूप से दक्षिण के प्रमुख शहरों यानी चेन्नई और बेंगलुरु में मध्य-बाजार और किफायती आवास श्रेणियों को लक्षित करती है। परिचालन के मोर्चे पर, राजस्व नीचे की ओर रहा है और कंपनी पिछले दो वर्षों से घाटा दर्ज किया। इश्यू की कीमत इसकी बुक वैल्यू से 2 गुना अधिक है।”

अस्वीकरण: ऊपर दिए गए विचार और सिफारिशें व्यक्तिगत विश्लेषकों या ब्रोकिंग कंपनियों के हैं, न कि मिंट के।

की सदस्यता लेना टकसाल समाचार पत्र

* एक वैध ईमेल प्रविष्ट करें

* हमारे न्यूज़लैटर को सब्सक्राइब करने के लिए धन्यवाद।

एक कहानी कभी न चूकें! मिंट के साथ जुड़े रहें और सूचित रहें।
डाउनलोड
हमारा ऐप अब !!

[ad_2]

Source link

Leave a Comment